ऐसा है अल्लेप्पी का सामान्य जनजीवन

ऐसा है अल्लेप्पी का सामान्य जनजीवन

यूँ तो ‘वेनिस ऑफ ईस्ट’ कहा जाने वाला केरल का ‘अल्लेप्पी’ अपने बैक वाटर्स टूरिज्म के लिए मशहूर है। बैकवाटर्स … Continue reading ऐसा है अल्लेप्पी का सामान्य जनजीवन

55.4 मिलियन क्यूबिक मीटर की क्षमता का है मट्टुपट्टी डैम

55.4 मिलियन क्यूबिक मीटर की क्षमता का है मट्टुपट्टी डैम

ये है मट्टुपट्टी डैम। मुन्नार से कोई 13 किलोमीटर की दूरी पर इडडूकि ज़िले में 5500 फ़ीट से भी अधिक … Continue reading 55.4 मिलियन क्यूबिक मीटर की क्षमता का है मट्टुपट्टी डैम

‘टॉप स्टेशन’ से भेजी जाती थी मुन्नार की चाय

‘टॉप स्टेशन’ से भेजी जाती थी मुन्नार की चाय

यह फ़ोटो हमारी केरल यात्रा के चिरस्मरणीय पल को याद दिलाती है। इस जगह का नाम है ‘टॉप स्टेशन’। यूँ … Continue reading ‘टॉप स्टेशन’ से भेजी जाती थी मुन्नार की चाय

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान बना था पदमपुरम गार्डन

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान बना था पदमपुरम गार्डन

अरकू का पदमपुरम गार्डन प्रकृति प्रेमियों के लिए तरह-तरह के फूलों, पौधों और वृक्षों के बीच सुकून के दो पल … Continue reading दूसरे विश्व युद्ध के दौरान बना था पदमपुरम गार्डन

अरकू वैली कॉफ़ी म्यूजियम: कॉफ़ी के साथ कॉफ़ी का इतिहास

अरकू वैली कॉफ़ी म्यूजियम: कॉफ़ी के साथ कॉफ़ी का इतिहास

    अरकू वैली में बना कॉफी म्यूजियम दोस्तों और परिवार के साथ कॉफी पीने की शानदार जगह है और … Continue reading अरकू वैली कॉफ़ी म्यूजियम: कॉफ़ी के साथ कॉफ़ी का इतिहास

अरकू वैली ट्राइबल म्यूजियम में मिलती है आदिवासियों के बारे में अचंभित करने वाली जानकारी

अरकू वैली ट्राइबल म्यूजियम में मिलती है आदिवासियों के बारे में अचंभित करने वाली जानकारी

अरकू वैली में बना ट्राइबल म्यूजियम पर्यटकों के लिए एक बहुत दिलचस्प जगह है। यह एक गोल झोपड़ीनुमा दो मंजिला … Continue reading अरकू वैली ट्राइबल म्यूजियम में मिलती है आदिवासियों के बारे में अचंभित करने वाली जानकारी

ईस्टर्न घाट्स की दूसरी सबसे ऊंची चोटी है गलीकोंडा व्यू पॉइंट

ईस्टर्न घाट्स की दूसरी सबसे ऊंची चोटी है गलीकोंडा व्यू पॉइंट

अरकू वैली में ईस्टर्न घाट्स के पहाड़ों की दूसरी सबसे ऊंची चोटी है गलीकोंडा व्यू पॉइंट। लगभग चार हज़ार तीन … Continue reading ईस्टर्न घाट्स की दूसरी सबसे ऊंची चोटी है गलीकोंडा व्यू पॉइंट

बीस हज़ार हैक्टेयर में फ़ैला है अनंतगिरि कॉफ़ी प्लांटेशन

बीस हज़ार हैक्टेयर में फ़ैला है अनंतगिरि कॉफ़ी प्लांटेशन

अरकू वैली में प्रवेश करते ही अनंतगिरि पर्वतश्रृंखला में फैली कॉफ़ी की खुशबू पर्यटकों का खुले दिल से स्वागत करती … Continue reading बीस हज़ार हैक्टेयर में फ़ैला है अनंतगिरि कॉफ़ी प्लांटेशन

150 मिलियन वर्ष पुरानी हैं बोर्रा केव्स

150 मिलियन वर्ष पुरानी हैं बोर्रा केव्स

  विशाखापत्तनम से लगभग नब्बे किलोमीटर दूर अनंतगिरि पर्वतश्रृंखला में स्थित है बोर्रा केव्स ।सन 1807 में विलियम किंग नामक … Continue reading 150 मिलियन वर्ष पुरानी हैं बोर्रा केव्स