डॉ ईशान पुरोहित Dr. Ishan Purohit

 

FB_IMG_1553246763391

डॉ ईशान पुरोहित एक युवा कवि एवं यात्रा लेखक के रूप में अपनी एक अलग पहचान रखते हैं। उनकी सौ कविताओं का कविता संग्रह ” जीवन तो चलता रहता है” वर्ष 2017 में देहरादून के अग्रणी प्रकाशन “विनसर पब्लिशिंग कंपनी” द्वारा प्रकाशित किया गया है। उनके द्वारा हिंदी में लिखे गये पच्चीस से अधिक साहित्यिक लेख और कहानियां विभिन्न पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके हैं। जहाँ एक और डॉ ईशान गढ़वाली पत्रिका “धाद” में सतत साहित्यिक लेखन करते रहें हैं वहीं दूसरी और उत्तराखंड से प्रकाशित “रीजनल रिपोर्टर” पत्रिका में वो अक्षय ऊर्जा के तकनीकी लेखन के स्तंभकार हैं। उन्होंने तकनीकी राष्ट्रीय पत्रिका ‘द सोलर क्वार्टरली’ का तीन वर्षों तक सह-संपादन भी किया है। ऊर्जा क्षेत्र से संबंधित राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं में उनके एक सौ पचास से अधिक शोध पत्र प्रकाशित हुए हैं।

डॉ ईशान ने गढ़वाल विश्वविद्यालय से वर्ष दो हजार में भौतिकी (इलेक्ट्रॉनिक्स) में स्नातकोत्तर परीक्षा तथा दो हज़ार चार में गढ़वाल विश्वविद्यालय, आई. आई. टी. दिल्ली,  और सौर ऊर्जा केंद्र, भारत सरकार के तत्वाधान में सौर ऊर्जा पर पीएच. डी. की है। वर्तमान में डॉ ईशान विश्व बैंक समूह के उपक्रम अंतरराष्ट्रीय वित्त संस्थान के दिल्ली कार्यालय में “ऊर्जा विशेषज्ञ” के पद पर कार्यरत हैं, पूर्व में वो ( पेट्रोलियम विश्वविद्यालय, देहरादून, जी बी पंत इंजीनियरिंग कॉलेज, पौड़ी ) में तीन वर्षों तक अध्यापन एवं शोध, तत्पश्चात विश्व प्रसिद्ध ” दि एनर्जी एन्ड रिसोर्सेस इंस्टिट्यूट” में तीन वर्षों तक फेलो के रुप में, तत्पश्चात लगभग सात वर्षों तक इंजीनियरिंग फर्म “ला-मेयर इंटरनेशनल” ( वर्तमान में ट्रेक्टबेल इंजीनियरिंग ) में वरिष्ठ महाप्रबंधक-अक्षय ऊर्जा के पद कार्य कर चुके हैं।

वो टेरी विश्विद्यालय में विजिटिंग प्रोफेसर, आई. आई. टी. दिल्ली, पावर मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट, नेशनल पावर ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट, त्र-इंटरनेशनल में नियमित रूप से विशेषज्ञ व्याख्याता रहे हैं। त्र-इंटरनेशनल के साथ उनके सौर ऊर्जा परियोजनाओं के तकनीकी और आर्थिक मूल्यांकन पर सौ घंटे के वीडियो लेक्चर्स देश के कई संस्थानों में पढ़ाये जा रहे हैं।

Advertisements