कैसे लें गर्मी की छुट्टियों का मज़ा

सचिन देव शर्मा के यात्रा टिप्स:

दोस्तों गर्मियाँ शुरू हो चुकी हैं ,आप सभी अपने परिवार के साथ गर्मियों की छुट्टियों में कहीं ना कहीं घूमने का कार्यक्रम तो बना ही रहे होंगे। परिवार के साथ घूमने फ़िरने जाना आपके रोज़मर्रा की चुनौतियों से होने वाले तनाव को तो दूर करता ही है साथ ही साथ तन व मन में स्फूर्ति का संचार भी करता है। जब भी अपने गांव या शहर से बाहर घूमने जाते हैं तो उस सफर को बिना किसी या कम से कम परेशानी के कैसे पूरा किया जा सकता है और परिवार के साथ या अकेले ही गर्मियों की छुट्टियों में घूमने का आनंद कैसे लिया जा सकता है, आइये जानते है आगे दिए टिप्स के द्वाराः

  • अपने बजट के अनुसार आप जो भी होटेल चुने, छुट्टी पर जाने से पहले उसके बारें पहले ही इंटरनेट से जानकारी जुटा लें, इसके लिए आप कुछ प्रमुख यात्रा वेबसाइट्स पर उस होटेल की समीक्षा (रिव्युज़) चेक कर सकते हैं। यदि आप चाहते हैं कि आपका होटल का अनुभव अच्छा रहे तो कोशिश करें कि वही होटेल बुक करें जिसकी रिव्यू रेटिंग कम से कम चार हो। कुछ प्रमुख वेबसाइटस  जहाँ पर आप होटेल का रीव्यू रेटिंग चेक कर सकते हैं वो हैं www.tripadvisors.com , www.makemytrip.com  इत्यादि। याद रहे कि घूमने जाने से जितनी पहले आप होटेल, हवाई जहाज़ या ट्रेन का आरक्षण कराएंगे उतनी ही अच्छी डील आपको मिलेगी।
  • यदि आप ऑनलाइन वेबसाइट पर सहज अनुभव नहीं करते हैं तो आप अपने मित्रों या रिश्तेदारों से भी बात कर सकते हैं, हो सकता है कि उनमें से कोई पहले ही उस जगह पर घूमने के लिए गये हों तो वह भी आपको जिस होटेल में वो रुके थे उसके अनुभव के बारें में बता सकते हैं। यदि उनका अनुभव अच्छा रहा है तो आप भी उसी होटेल में रुक सकते हैं पर शर्त यह है कि उस होटेल में वो सुविधाएं होनी चाहियें जो आपको चाहियें।
  • अच्छा यही रहता है की आप जिस भी होटेल में रुकें वहाँ की बुकिंग एडवांस में ही करा लें। आप ऑनलाइन बुकिंग भी करा सकते हैं। आजकल ज्यादातर होटेल्स ऑनलाइन बुकिंग का विकल्प देते हैं, होटेल की ऑनलाइन बुकिंग आप होटेल की अपनी वेबसाइट या अन्य यात्रा वेबसाइट्स के माध्यम से भी कर सकते हैं। कुछ यात्रा वेबसाइट इस तरह का विकल्प भी देती हैं कि आपको बुकिंग के समय कुछ भी भुगतान नहीं करना पड़ता, भुगतान उस दिन सीधा होटेल में ही किया जाता है जिस दिन आप होटेल से चेक आउट करते हैं। एक विकल्प इस तरह का भी होता है जिसमें  वेबसाइट आपसे बुकिंग के समय कोई भुगतान नहीं लेती लेकिन आपके क्रेडिट या डेबिट कार्ड का डिटेल ले लेती हैं और होटेल में चेक इन डेट से कुछ दिन पहले पैसे काट लेते हैं इसमें आपके पास ये विकल्प रहता है कि यदि आप पैसे कटने से पहले अपनी बुकिंग कैंसिल करते हैं तो वेबसाइट की शर्तों के हिसाब से आपको कैंसलेशन चार्जेज देने पड़ते हैं लेकिन ज्यादातर पैसे कटने से पहले कैंसलेशन फ़्री होता है।
  • सफर में आपकी और आपके परिवार की सुरक्षा आपकी प्राथमिकता होती है। इस प्राथमिकता को ध्यान में रखते हुए सुझाव यह है कि यदि आपका बजट अनुमति दे तो उन हॉटेल्स का ही चयन करें जो किसी प्रतिष्ठित होटेल श्रृंखला से संबंधित हो।
  • बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन अथवा एयरपोर्ट से टैक्सी लेते समय इस बात का ख्याल रखें कि किसी भी आती जाती टैक्सी में ना बैठें केवल लोकल प्रशासन द्वारा वहाँ पर बनाये प्री पेड टैक्सी बूथ से ही टैक्सी लें। आजकल रेडियो टैक्सियों का भी काफी चलन है यदि आप मोबाइल ऍप या फ़ोन द्वारा टैक्सी बुक कराने में कम्फ़र्टेबल हैं तो रेडियो टैक्सी भी बुक कर सकते हैं, रेडियो टैक्सी के ऍप में आजकल सुरक्षा फ़ीचर भी होता है जिसे आप ज़रुरत पड़ने पर इस्तेमाल कर सकतें हैं। रेडियो टैक्सी ऍप के माध्यम से आप अपनी मौजूदा लोकेशन अपने प्रियजनों के साथ साझा कर सकते हैं।
  • सफर के दौरान अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। जहाँ तक हो सके उसी होटेल में खाये जहाँ आप रुके हुए हैं, अपनी प्रतिष्ठा को ध्यान में रखते हुए वो अपने मेहमानों के खाने पीने का विशेष ध्यान रखते हैं। लगभग हर शहर में जलपान के कुछ प्रसिद्ध स्थल होते हैं, जलपान से पहले उस जगह की साफ सफाई को एक बार सुनिश्चित कर लें।
  • पीने के लिए अच्छी कंपनी के बोतल का पानी अथवा आर ओ पानी का प्रयोग करें। होटेल से साइट सीइंग ( पर्यटक आकर्षणों को देखना ) के लिए निकलते समय आर ओ का पानी अपनी पानी की बोतल में होटेल से ही भर सकते हैं इससे आपके पैसों की भी बचत होगी।
  • जिस भी होटेल में रुके वहाँ पर ब्रेकफॉस्ट वाला प्लान लें। आमतौर पर सभी होटेल्स में ब्रेकफास्ट में सभी की प्राथमिकता के हिसाब से व्यंजन उपलब्ध हो जाते हैं। ब्रेकफास्ट अच्छी तरह करें क्योंकि फिर उसके बाद आप निश्चिन्त होकर घूमने का मज़ा उठा सकते हैं।
  • यदि आपने नाश्ता भर पेट किया है तो भूख लगने की संभावना कम ही रहती है फिर भी यदि भूख लगती है तो पैक्ड बिसकिट्स, नमकीन, फ्रूट केक, चिप्स आदि से अपने भूख शांत कर सकते हैं, चाय और कोल्ड डिं्रक्स तो सब जगह मिल ही जाती है।
  • कुछ भी खाने से पहले हाथों को साबुन से धोना ना भूलें यदि ऐसा संभव ना हो तो हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग करें। सफर में हैंड सैनीटाइजर साथ रखना कभी भी ना भूलें।
  • याद रखें कि आप घूमने जाते हैं रिलैक्सेशन (विश्राम) के लिए, आप जितने दिन की भी घूमने की योजना बनायें एक पूरा दिन रिलैक्सेशन के लिए रखें। यदि आप रिलैक्स करने के लिए आपकी यात्रा का आखिरी दिन रखते हैं तो अच्छा रहता है। यदि आप केवल रिलैक्स करने के लिए घूमने जाना चाहता हैं तो होटेल के बजाय रिसोर्ट का विकल्प चुने क्योंकि रिसोर्ट के अंदर ही आपके मनोरंजन की चीज़ों के साथ-साथ आउटडोर एक्टिविटी ( बाहरी क्रिया-कलाप ) का भी विकल्प मिलता है। साइट सीइंग के दौरान सभी साइट्स को देखने के चक्कर में ना पड़े उतनी ही जगह जाए जितना समय अनुमति दे। शाम की चाय के समय तक होटेल वापस पहुँचने का प्रयास करें। अच्छा रहेगा यदि आप अपना यात्रा का कार्यकृम ( किस दिन कहाँ -कहाँ और कैसे घूमना है ) बना लें, इससे आप कम समय में अधिक से अधिक घूम सकते हैं। यदि सिटी टूर बस का विकल्प उपलब्ध हो तो उसका उपयोग करें इससे आप कम समय और पैसे में व सुरक्षित तरीके से ज्यादा से ज्यादा घूम सकते हैं।
  • यदि आप होटेल में ही हैं और लंच के समय आपको अधिक भूख नहीं है तो आप “रेडी तो ईट“ ( खाने के लिए तैयार ) भोजन का प्रयोग कर सकते हैं जैसे कि कप नूडल्स, कप पोहा, कप उपमा आदि। यात्रा पर जाते समय आप यह सब अपने साथ ले जा सकते हैं।इससे आपको साफ सुथरा भोजन तो मिलता ही है साथ ही साथ आपके पैसों की बचत भी होती है। इस “रेडी तो ईट“ ( खाने के लिए तैयार ) भोजन को आप शाम के नाश्ते के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • यात्रा की अपनी यादों को संजोने के लिए अपने फ़ोन या कैमरे की मेमोरी चेक कर लें, यदि फोन में मेमोरी कम बची है तो अनावश्यक फाइल्स, फोटोज व चैट आदि डिलीट करके फ़ोन या कैमरे में जगह बना लें या फिर ज्यादा मेमोरी का कार्ड फ़ोन या कैमरे में लगा सकते हैं।
  • आज के समय में मोबाईल फ़ोन आपकी जीवन रेखा बन चुका है और ये जीवन रेखा सतत चलती रहे उसके लिए ज़रूरी है कि आप के मोबाईल को हमेशा चार्ज रखने के लिए अपने साथ पावर बैंक ले जाना ना भूलें, यह आपके लिए टॉर्च का भी काम करता है।
  • टिकेट्स तथा होटेल बुकिंग बाउचर की कम से कम एक कागज़ की प्रति अवश्य रखें, मोबाइल खो जाने या खराब हो जाने की स्तिथि में यह आपके बहुत काम आएगा। अपना तथा अपने परिवार के प्रत्येक सदस्य का सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त परिचय पत्र रखना ना भूलें, आजकल होटेल्स में बच्चों के परिचय पत्र की प्रति भी जमा कराई जाती है। पैन कार्ड को होटल्स में परिचय पत्र के रूप में स्वीकार नहीं किया जाता। 
  • हीट स्ट्रोक ( सूरज की धूप ) से बचने के लिए आप व् आपके परिवारजन गौगल्स ( काला चश्मा ) व टोपी का प्रयोग करें एवं थोड़ी थोड़ी देर में पानी पीते रहें। धूप में बाहर निकलते समय सनस्क्रीन लोशन लगाना ना भूलें।
  • अपने और बच्चों के लिए सामान्य दवाईयाँ सफर के दौरान हमेशा अपने साथ रखें जैसे कि बुखार, उल्टी, दस्त, पेट दर्द, एसिडिटी आदि। इन दवाइयों का प्रयोग आप आवश्यकतानुसार डॉ से परामर्श के बाद कर सकते हैं। अपने डॉक्टर का मोबाइल नंबर हमेशा अपने साथ रखें, इसके अलावा थर्मामीटर, बैंडेज, डेटोल, पाचक गोलियाँ, गर्म पट्टी, वॉलिनी आदि रखना भी ना भूलें।

ये टिप्स अपनाइये और फिर देखिए कि कैसे आपकी यात्रा हमेशा के लिए एक यादगार अनुभव में बदल जाती है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s