पुस्तक के ज़रिए स्थलों का मानस-भ्रमण : मौमिता बागची

पुस्तक के ज़रिए स्थलों का मानस-भ्रमण : मौमिता बागची

पुस्तक: ल्हासा नहीं… लवासालेखक: सचिन देव शर्माप्रकाशक: हिन्दी युग्म ब्लूमूल्य : 125 रु “ल्हासा नहीं लवासा” एक यात्रा वृत्तांत है … Continue reading पुस्तक के ज़रिए स्थलों का मानस-भ्रमण : मौमिता बागची

इनरलाइन पास: 18 दिन में 200 किमी की पैदल यात्रा के बाद मंजिल मजेदार थी

इनरलाइन पास: 18 दिन में 200 किमी की पैदल यात्रा के बाद मंजिल मजेदार थी

  यात्रावृत पर पुस्तक की समीक्षा की है घुमंतु व् पत्रकार नवनीत कुमार जायसवाल ने – कहा जाता है कि … Continue reading इनरलाइन पास: 18 दिन में 200 किमी की पैदल यात्रा के बाद मंजिल मजेदार थी